परोपकारिणी सभा

आर्यों की आशा का केंद्र : परोपकारिणी सभा

धरती के तल के सब वेदाभिमानी आर्यों की आशा का केंद्र इस समय ऋषी जी द्वारा स्थापित परोपकारिणी सभा है . देश भर के धर्मनिष्ठ जातिभक्त आर्य समाजेतर धर्माचार्य धर्म रक्षा के लिए निरंतर सभा के संपर्क में रहते और परोपकारी के नियमित पाठक हैं. अमेरिका इंग्लेंड फ़्रांस जर्मनी से आर्य चलभाष द्वारा सभा के विद्वानों से धर्मचर्चा व शंका समाधान करते रहते हैं .

सभा के पास इस समय सर्वाधिक विद्वान हैं जो पूरा वर्ष अनुसंधान व प्रचार में लगे रहते हैं . सभा शोध करने वालों को पूरा सहयोग देती व मार्ग दर्शन करती हैं . हम अथक कार्य करके भी संतुष्ट नहीं हैं . घना कोहरा व घोर अन्धकार अनेक धर्म रक्षक योद्धाओं की सेवायें मांगता है . एक एक आर्य अपने कर्तव्य को समझे और सभा से जुड़े .

सभा धर्म पर होने वाले आक्रमण का प्रतिकार करने में प्रतिपल तत्पर है और समय समय पर धर्म पर किये गए आक्षेपों का जवाब तत्परता से देती है.

सभा द्वारा वैदिक साहित्य का प्रचार प्रसार, गौ शाला, धर्मार्थ चिकित्सा सुविधा , गुरुकुल और वैदिक अनुसन्धान आदि कार्य किये जाते हैं .

खाताधारक का नाम – परोपकारिणी सभा अजमेर

Bank Accoutn Detail : Saving Account No- 091104000057530

Bank IDII , Near Power House, Jaipur Road ,Ajmer

IFSC- IBKL000091

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आर्य मंतव्य (कृण्वन्तो विश्वम आर्यम)